.

प्रोजेक्ट प्रसादम

(वंचितों को भोजन )

प्रेरक: श्री मदविष्णुस्वामीहरिदासीयसंप्रदायाचार्य विश्वविख्यात कथाप्रवक्ता
पूज्य गोस्वामी श्री आनंदवल्लभजी महाराज
सेवायत आचार्य : मंदिर ठा. श्रीबाँकेबिहारीजी महाराज , श्रीधाम वृन्दावन

संचालक - विश्व वैष्णव सेवा संघ
श्री धाम वृन्दावन
संपर्क सूत्र : ९८९७३१२८०८ , ७९०६२५३१२४

उदारमना श्रद्धालु भक्तजन निम्न प्रकार सेवा प्रदान कर सकते हैं|
एकदिवसीय सेवा सहयोग

अपने द्वारा निर्धारित तिथि ( जन्मोत्सव , वैवाहिक वर्षगाँठ , पूर्वजों के स्मृति दिवस अथवा अन्य किसी उपलक्ष्य दिवस ) पर मात्र ३१०० रू.( इकतीस सौ रूपए मात्र ) प्रदान करके आप १०१ जरुरत मंद लोंगो को भोजन करा सकते हैं|
जिस दिन आपके द्वारा सेवा होगी उस दिन के फोटो आपके नाम सहित सेवा सदस्यों के व्हाट्सएप ग्रुप एवं संस्था की पत्रिका में प्रकाशित किये जायेंगे , जिससे सेवा सहयोग की पूर्ण विश्वसनीयता एवं पारदर्शिता बनी रहे |

विशेष सहयोगी सदस्य

प्रतिदिन की सेवा में ३१०० रु. के अतिरिक्त आने वाले व्यय की पूर्ति हेतु किसी भी खाद्य सामिग्री , सेवा साधन अथवा नकद धनराशि प्रदान करके आप संचालन समिति के सदस्य भी बन सकते हैं | सभी सदस्यों को वार्षिक आय व्यय का पूरा विवरण भी उपलब्ध कराया जायेगा |

एक आंकड़े के अनुसार भारत में लगभग २० करोड़ ऐसे लोग हैं जिन्हें भरपेट भोजन भी उपलब्ध नहीं | ऐसे में हम कुछ वंचितों को भी भोजन करा सकें तो यह साक्षात् अपने इष्ट और राष्ट्र की सच्ची सेवा ही होगी |

- पूज्य गोस्वामी श्री आनन्दवल्लभ महाराज जी
तुरगशतसहस्त्रम गोगजानाम च लक्षम ,
कनकरजतपात्रम मेदिनीम सागरान्तां |
विमलकुलवधुनाम कोटिक कान्याश्च ,
दधानांहि नहि सममेतैरनदानं प्रधानम |

श्रद्धालु भक्तजन ,
ठा. श्री बांकेबिहारीजी महाराज की अलौकिक दिव्या कृपा से, पीड़ित मानवता की सेवा हेतु एक संकल्प का उदय हुआ है |
हम प्राय: देखते हैं कि यत्र - तत्र भोजन के वास्तविक जरूरतमंद अनेक लोग ऐसे मिल जाते हैं , जो न तो किसी आश्रम में संतों के साथ भंडारे में बैठकर भोजन कर सकते हैं और न ही अन्नक्षेत्रादि स्थलों तक पहुँच पाते हैं |ऐसे जरूरतमंद प्राय: सरकारी या ट्रस्ट संचालित अस्पतालों , रैनबसेरा ,बस स्टैंड या रेलवे स्टेशन के आस पास और इधर उधर की झुग्गी - झोपड़ियों में मिलते हैं | आपके अपने विश्व वैष्णव सेवा संघ ने ऐसे वंचितों के लिए आपके पुनीत पावन सहयोग द्वारा भोजन सेवा को आरम्भ करने का विचार किया है | प्रथम चरण के रूप में श्री धाम वृन्दावन में प्रतिदिन जरूरतमंद लोगो को शुद्ध सात्त्विक भोजन जिसमें ठाकुर जी को भोग लगाया हुआ दाल , चावल ,रोटी , सब्जी , अचार - पापड़ आदि का प्रसाद वाहन द्वारा पहुंचाकर उन्हें भोजन कराने की सेवा आरम्भ की है |

संतों की वाणी एवं शास्त्रों के अनुसार भगवान् के लीला धाम श्री वृन्दावन में वास करने वाला प्रत्येक जीव संत स्वरुप ही है अत: यहाँ की गई सेवा और भी महत्त्वपूर्ण और अनंत फल देने वाली हो जाती है |

इस अत्यंत मंगलकारी सेवाकार्य में आपका अति महत्वपूर्ण सहयोग अपेक्षित है |


इस मंगलमय अनुष्ठान की सफलता आपकी पूर्ण रूचि एवं सक्रिय सहयोग पूर्ण परामर्श पर निर्भर है | अत: अतिशीघ्र अपनी भूमिका सुनिश्चित कर सेवा सहयोग सूचित करें | इस सेवा परियोजना में आपका महत्वपूर्ण परामर्श भी सदैव अपेक्षित रहेगा | आपसे पुन: निवेदन है कि इस महान सेवा कार्य में अवश्य भागीदार बनें |

पीड़ित मानवता की सेवा साक्षात ईश्वर की सेवा है |

मरुँ पर मांगू नहि , अपने तन के काज | परमारथ के कारने , मोहि ना आबे लाज || - कबीर दास

आओ कराये जरूरत मंदो को भोजन प्रदान

कृष्ण राधा नगरी वृन्दावन में ,

आओ मिलकर उठाये एक कदम जरूरतमंद को भोजन करा कर

(द्वारा)

प्रोजेक्ट प्रसादम टीम,

(सानिध्य)

पूज्य गोस्वामी श्रीआनन्दवल्लभजी महाराज सेवायत आचार्य ठा. श्रीबाँकेबिहारीजी मंदिर, श्रीधाम वृन्दावन।
ठा. श्री बांकेबिहारीजी महाराज की अलौकिक दिव्य कृपा से, पीड़ित मानवता की सेवा हेतु एक संकल्प का उदय हुआ | हम प्राय: देखते हैं कि यत्र - तत्र भोजन के वास्तविक जरूरतमंद अनेक लोग ऐसे मिल जाते हैं , जो न तो किसी आश्रम में संतों के साथ भंडारे में बैठकर भोजन कर सकते हैं और न ही अन्नक्षेत्रादि स्थलों तक पहुँच पाते हैं |ऐसे जरूरतमंद प्राय: सरकारी या ट्रस्ट संचालित अस्पतालों , रैनबसेरा ,बस स्टैंड या रेलवे स्टेशन के आस पास और इधर उधर की झुग्गी - झोपड़ियों में मिलते हैं | आपका अपना विश्व वैष्णव सेवा संघ ऐसे वंचितजनों के लिए आपके पुनीत पावन सहयोग द्वारा विगत लगभग दो वर्षों से लगातार भोजन सेवा प्रदान कर रहा है | प्रथम चरण के रूप में श्री धाम वृन्दावन में प्रतिदिन जरूरतमंद लोगो को शुद्ध सात्त्विक भोजन जिसमें ठाकुर जी को भोग लगाया हुआ दाल , चावल ,रोटी , सब्जी , अचार - पापड़ आदि का प्रसाद वाहन द्वारा पहुंचाकर उन्हें भोजन कराने की सेवा प्रदान की जाती है | |

सेवा राशि

03 जरूरतमंदों को भोजन सेवा 100 रु
21 जरूरतमंदों को भोजन सेवा 600 रु
51 जरूरतमन्दों को भोजन सेवा 1500 रु
101 जरूरतमंदों को भोजन सेवा 3000रु

Payment Option

You Can Pay Us By Different Payment Options
Official Google Pay No. 9045268506 (Shri Haridas)
Official Bank Account For Transfer
Bank name :- पंजाब नेशनल बैंक
शाखा :- वृन्दावन
A/c No. 0463020100006318
A/c Name :- आचार्य आनंदवल्लभ गोस्वामी
Ifsc code:- PUNB0490200

Payment Option

You Can Pay Us by different payment Options

Official Paytm No. 9045268506 (Shri Haridas)
Official Google Pay No. 9045268506 (Shri Haridas)
Official Bank Account For Transfer
Bank name :- पंजाब नेशनल बैंक
शाखा :- वृन्दावन
A/c No. 0463020100006318
A/c Name :- आचार्य आनंदवल्लभ गोस्वामी
Ifsc code:- PUNB0490200

Other Payment